प्रदुम्न मामले पर बोले संजय ‘डरावना वक्त, पिता के तौर पर लाचार महसूस करता हूं’..

तीन बच्चों के पिता संजय दत्त का कहना है कि मौजूदा समय माता-पिता के लिए डरावना है जो किसी न किसी वजह से अपने बच्चों की सुरक्षा को लेकर हमेशा चिंतित रहते हैं।


इयान इंटरनेशनल स्कूल में 7 साल के प्रदुम्न के साथ हुए हादसे को लेकर उन्होंने कहा, “एक पिता के रूप में वह हमेशा अपने बच्चों को समझाते हैं कि वे अपना काम करके घर लौट आएं, क्योंकि बाहर का माहौल सही नहीं है।”
निजी जिंदगी में काफी उतार-चढ़ाव का सामना करने वाले अभिनेता संजय दत्त का कहना है उन्होंने अपने अनुभवों से काफी सबक सीखे हैं और उनकी बेगुनाही बरकरार है।


फिल्म ‘रॉकी’ (1981) से बॉलीवुड में शानदार आगाज करने वाले संजय दत्त ने नशे की लत में पड़कर अपने निजी जीवन को संकट में डाल लिया था और हालात तब और बिगड़ गए जब अवैध रूप से हथियार रखने के आरोप में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया और वह दोषी करार दिए गए थे।
संजय से पूछा गया कि जीवन का हर अनुभव कुछ सिखाता है, उन्होंने अपने जीवन के उन खराब दिनों से क्या सीखा है? इस पर संजय ने कहा, “बहुत कुछ..मैंने बहुत कुछ सीखा। मैं उस वक्त बेगुनाह था, मैं अभी भी बेगुनाह हूं, लेकिन जीवन से कुछ सबक सीखा है।”

SHARE